Beware of Smooth Talkers

Blog Image
03 Aug 19 Dr. Ujjwal Patni Yellow Star Yellow Star Yellow Star Yellow Star Yellow Star Add Rating
531
Category:Life Motivation
Share on

सभी मीठा बोलने वाले शुभचिंतक नहीं होते  
 
समस्या सब के जीवन में होती है, मगर कोई छोटी समस्या को चिंता करके बड़ी कर लेता है तो कोई बड़ी समस्या का भी सामना मुसकुराते हुए करता है|प्रश्न समस्या होने या नहीं होने का नहीं है, वरन प्रश्न समस्याओं का प्रचार करने का है| आप विश्वास करके कुछ लोगों के साथ अपनी समस्या बाँट देते हैं और उनसे कहते हैं, “किसी को बताना मत”| बिना देर किए वह आपकी समस्या को ढेर सारे अन्य लोगों को बताते और कहते हैं, “किसी को बताना मत”| यह कारवां बढ़ता चला जाता है, मुझे लगता है कि जब भी हम किसी बात के लिए यह लाइन प्रयोग में लाते हैं, वही बात सबसे तेजी से फैलती है|

अक्सर हम समस्या बांटने के लिए गलत लोगों का चुनाव करते हैं| ऑफिस के बॉस के साथ तनाव होता है तो हम सहकर्मी के ऊपर विश्वास कर उसे कह देते हैं और धीरे से वह बात फिर बॉस तक पहुँच जाती है| पत्नी अपने पति, सास, ससुर आदि से हुए तनाव कि चर्चा सहेलियों से करती हैं और सहेलियाँ पूरे शहर में फैला देती हैं|

पावर थिंकिंग – अपनी समस्याएँ हर किसी के साथ मत बांटिए, कोई मीठा बोल रहा है या सहानुभूति दिखा रहा है तो इसका अर्थ यह नहीं है कि वह आपका शुभचिंतक है|

क्या समस्या वाकई में है

पावर थिंकिंग सदैव समस्या कि जड़ तक जाता है| क्या समस्या का वाकई अस्तित्व है? क्या समस्या पूर्वाग्रहों की वजह से पैदा हो गई है? क्या समस्या अपेक्षाएँ पूरा ना होने की वजह से पैदा हो गई है? क्या समस्या हमारी धारणाओं की वजह से पैदा हो गई है? जब पावर थिंकर इन कोणों से देखता है तो अधिकांश समस्याएँ वहीं खत्म हो जाती हैं|

उसी समस्या पर बार-बार दुखी क्यों होना|

कमेडियन के चुट्कुले पर लोग इतना हँसे कि सबके पेट में बल पड़ गए| कुछ देर बाद कमेडियन ने फिर वही चुटकुला सुनाया, अब हंसी की आवाज़ कम सुनाई दी| कुछ देर बाद फिर कमेडियन ने वही चुटकुला सुनाया, अब बहुत कम लोग हँसे| कुछ देर बाद फिर वही चुटकुला सुनाया और कोई भी नहीं हंसा| लोग झुँझला उठे कि एक ही चुट्कुले को क्यों दोहराया जा रहा है| उस कमेडियन ने लोगों को एक अद्भुत संदेश दिया| उसने कहा – साथियों इस चुट्कुले ने आपको पहली बार इतना खुश किया था कि आप अपनी हंसी सम्हाल नहीं पा रहे थे| जब इसी चुटकुले को चौथी बार सुनाया तो इसका प्रभाव खत्म हो चुका था| अब वह आपको ज़रा भी खुश नहीं कर पा रहा था| जब खुशी वाली बात भी आपको बार-बार खुश नहीं कर पाती तो ज़िंदगी के दुख आपको बार-बार दुखी क्यों करते हैं| जब खुशी कि बात का प्रभाव कुछ देर बाद शून्य हो जाता है तो दुखी करने वाली यादों के प्रभाव को आप कुछ देर बाद शून्य क्यों नहीं कर देते? क्यों उनसे बार-बार दुखी होते हैं?

साथियों हमारी शक्ति एक समस्या मुक्त जीवन पैदा करने की बजाय इस बात में लगनी चाहिए कि जब भी हमें समस्याएं घेरकर प्रभावित करने की कोशिश करे तो हम कितनी जल्दी उबर पाते हैं|

पावर योजना

  • अपनी निजी समस्याओं को निजी ही रखेंगे, उसे अनावशयक सहानुभूति हासिल करने हेतु अन्य लोगों के साथ शेयर नहीं करेंगे|

  • जो समस्या नियंत्रण में नहीं, उसे लेकर तनाव नहीं लेंगे|

  • टालने की जगह संभावना पर चिंतन कर ठोस निर्णय लेंगे|

  • अपने जीवन में कुछ गुरु, मैंटर या सच्चे शुभचिंतकों को चुनकर सिर्फ उनसे ही समस्या शेयर करेंगे|


If you liked this article also view this video by Dr. Ujjwal Patni
धन्यवाद|
डॉ उज्ज्वल पाटनी
बिज़नस कोच | टॉप मोटिवेशनल स्पीकर
  1. To get information about the latest Program, do click here: https://www.youtube.com/user/personality2009.
  2. To get more information on our Programs, please like our Facebook Page, click here : https://www.facebook.com/ujjwalpatni
  3. To get Free E-Book, click here https://www.ujjwalpatni.com/e-booking
  4. To get your life and business transformed by Dr. Ujjwal Patni, join us at: https://www.ujjwalpatni.com/


Add Your Comment

Leave us a message here... Message
^