Facebook

You are Born VIP

Blog Image
26 Jul 19 Dr. Ujjwal Patni Black Star Black Star Black Star Black Star Black Star Add Rating
41
Category:Life Motivation
Share on

 
आप पैदाइशी ‘वी आई पी’ हैं  

कुछ समय पूर्व मुझे विकलांगों के एक सम्मेलन में बतौर वक्ता आमंत्रित किया गया था| मेंने सोचा की मुझे वहाँ उन लोगों का मनोबल बढ़ाकर उनमें जीवन के प्रति उम्मीद बढ़ाने के लिए बुलाया गया है| मन में सहानुभूति के साथ मैंने भाषण की तैयारी की| जब मैं उन लोगों के बीच पहुंचा, उनकी गतिविधियां देखी तो मैं हतप्रध रह गया| वहाँ अपाहिज होने के एहसास का नामोनिशान नहीं था|

यदि वर्णन करूँ तो जिनके हाथ नहीं थे, वह पैरों से लिख रहे थे तथा अन्य काम कर रहे थे| जिनके पैर नहीं थे, वह हाथों से चल रहे थे| कुछ की आँखें नहीं थी फिर भी उन्होंने पढ़ाई में अच्छे अंक प्राप्त किए थे| कुछ लोगों की बोलने की शक्ति जा चुकी थी लेकिन वह बिना दिक्कत के हाव-भाव से अपनी बातें समझा रहे थे|उनका आत्मविश्वास देखने के बाद मुझे अपना भाषण बदलना पड़ा| मैंने इस घटना को अपनी कृति पावर थिंकिंग और हर सेमिनार का हिस्सा बना लिया| कहने को तो सबके शरीर में अपूर्णता थी लेकिन वह सब आत्मनिर्भर थे| सेमिनार से लौटने के बाद भी वह दृश्य मुझे चिंतन पर मजबूर करता है, साथियों
  • दुनिया में लाखों लोग हैं, जिनके हाथ-पैर या अन्य अंग नहीं हैं|
  • दुनिया में लाखों लोग हैं, जो मानसिक रूप से विकसित नहीं हैं|
  • दुनिया में ऐसे लाखों लोग हैं, जो चिकित्सा के लिए पैसे नहीं होने की वजह से छोटी बीमारियों से ही दम तोड़ देते हैं|
  • दुनिया में ऐसे लाखों लोग हैं, जिनके सर पर छत नहीं है|
  • दुनिया में ऐसे लाखों लोग हैं, जो कभी स्कूल नहीं जा पाए
इन सब विसंगतियों और दुखदायी परिस्थितियों के बीच स्वयं का आंकलन कीजिए:-
  • यदि आप देख और सुन सकते हैं तो आप ‘वी आई पी’ हैं|
  • यदि आप पैरों पर खड़े हो सकते हैं और हाथों से काम कर सकते हैं तो आप ‘वी आई पी’ हैं|
  • यदि आपके पास छत है, सुबह-शाम भोजन की व्यवस्था है तो आप और भी ज़्यादा 'वी आई पी’ हैं|
इस सच को महसूस कीजिए कि ईश्वर ने आपको ‘वी आई पी’ बनाकर इस संसार में भेजा है, जो चीज़ें आपके पास नहीं है, हर वक्त उनके लिए दुख महसूस करने कि बजाय उन चीजों कि कद्र कीजिए, जो आपके पास है|
 
एक वृद्ध पिता अपने युवा पुत्र के साथ ट्रेन में चढ़े, ट्रेन चलते ही बेटा खुशी और उत्साह से झूम उठा| वह खिड़की के पास बैठा हुआ था, हाथ खिड़की से थोड़ा बाहर लाकर वह हवा को महसूस करने लगा और अचानक चिल्ला उठा, देखो पापा, सभी पेड़ की ओर जा रहें हैं| पापा मुसकुराते हुए बेटे कि बात सुन रहे थे| बेटे ने फिर कहा – पापा बंदर कैसे उछल-कूद कर रहा है और पेड़ों पर कितने सारे आम लटके हुए हैं| लटके हुए आम कितने सुंदर दिखते हैं| पिता ने सहमति से सर हिलाया| उस नौजवान के पास बैठे अन्य यात्रियों को यह बच्चों जैसा व्यवहार अजीब लग रहा था| तभी बारिश होने लगी और कुछ बूंदें लड़के कि बाहों में आ टपकी| लड़के ने प्रसन्नता से आँखें बंद कर ली| उसके मुंह से निकाल पड़ा – पापा बारिश कि बूंदें कितनी सुंदर होती हैं ना| अब अन्य यात्री पूरी तरह असहज हो चुके थे| एक दंपत्ति ने उसके पिता से पूछ ही लिया कि आप अपने बेटे का किसी अच्छे अस्पताल में इलाज क्यों नहीं कराते| पिता ने शांत भाव से जवाब दिया – हम अस्पताल से ही आ रहें हैं| मेरे बेटे ने आज पहली बार दुनिया देखी है, बचपन से इसकी आँखों में रोशनी नहीं थी| यह सुनते ही यात्री स्तब्ध रह गए|

साथियों, छोटी-छोटी खुशियों का मोल वही जानता है जिसके जीवन में वह खुशियाँ उपलब्ध नहीं हैं| आँखों का मोल उस युवा  से ज़्यादा कौन जानता होगा| हाथ-पैर का मोल उनसे पूछिये जिनके हाथ-पैर नहीं हैं, सोचने की शक्ति का मोल उनसे पूछिये जो विकसित नहीं हैं| जिस दिन आप इस सत्य को मन में बसा लेंगे कि ईश्वर ने मुझे ‘वी आई पी’ बनाकर पैदा किया है, उस दिन से आप कमियों की बात करना छोड़ देंगे| मैं ऐसे लोगों को जानता हूँ जिनके शरीर में कमी है लेकिन उन्होंने अपनी आत्मशक्ति के दम पर उस कमी को बौना बना दिया है, वह आज किसी पर निर्भर नहीं हैं| इसके विपरीत अनेक व्यक्ति सब-कुछ होते हुए भी, हर क्षण किसी न किसी कमी का रोना रोते हैं| इसलिए इस एहसास को शक्तिशाली बनाइये की आप ‘वी आई पी’ हैं|

जब आप इस शक्तिशाली एहसास के साथ जिएंगे तो विपरीत परिस्थितियां भी आपके हौसलों को डिगा नहीं पाएगी| आपको लड़ना होगा, अपनी जगह खुद बनाना होगा| यह तभी संभव होगा, जब आप अपने बारे में ऊंचा सोचें|


पावर योजना
  • जब भी आपके मन में हीनता, कमी, असफलता, हताशा के विचार हावी हों, एक क्षण के लिए आँखें बंद करें| ऐसे लोगों की कल्पना करें जिनके जीवन में आपसे ज़्यादा मुश्किले हैं, आपको अपनी तकलीफ़ें बौनी लगने लगेंगी|
  • ईश्वर को धन्यवाद दें कि उसने आपको सोचने और जीवन के निर्णय लेने कि शक्ति दी| जीवन के महत्वपूर्ण निर्णय लेकर पूरी शक्ति लगाकर मैदान में उतार जाइए, जीत हो या हार, डटे रहिए| 
धन्यवाद,
डॉ उज्ज्वल पाटनी
बिज़नस कोच | टॉप मोटिवेश्नल स्पीकर
 
 
 
 


 

Leave us a message here... Message
^